आइये जाने की वास्तु में सूर्य का महत्त्व हैं...?? वास्तु सम्मत निर्माण में सूर्य का योगदान.... ===पंडित "विशाल"दयानंद शास्त्री.... सूर्य, वास्तु शास्त्र को प्रभावित करता है इसलिए जरूरी है कि सूर्य के अनुसार ही हम भवन निर्माण करें तथा अपनी दिनचर्या भी...
जानिए कौन है लाफिंग- बुद्घा---- फेंगशुई का चलन दिनोदिन बढ़ता जा रहा है इसका प्रमुख कारण है कि इसके आसान टिप्स। यह टिप्स इतने सरल होते हैं जो आसानी से किए जा सकते हैं। अगर आप चाहते हैं कि आपके...
पुत्र संतान प्राप्ति के सरल उपाय — प्रायः देखने में आया है की किसी को संतान तो पैदा हुए लेकिन वो कुछ दीन बाद ही परलोक सुधर गया या अकाल मृत्यु को प्राप्त हो गया है… किसी को संतान होती ही...
 ऐसा हो आपके घर और कमरों का रंग रंग विज्ञान के अनुसार रंगों का हमारे मष्तिष्क तथा शरीर पर भिन्न- भिन्न प्रभाव पडता है।रंग जीवंतता के प्रतीक हैं। विभिन्न-रंगों से प्रेम हमारी अलग-अलग मनोभावनाओं को अभिव्यक्त करते हैं और यही...
वास्तु अनुसार/सम्मत कहाँ हो स्टडी रूम/अध्ययन कक्ष----- ----अध्ययन कक्ष भवन के पश्चिम-मध्य क्षेत्र में बनाना अतिलाभप्रद है। ----अध्ययन कक्ष में विद्यार्थी की टेबल पूर्व-उत्तर ईशान या पश्चिम में रहना चाहिए। दक्षिण आग्नेय व नैऋत्य या उत्तर- वायव्य में नहीं होना चाहिए। ----अध्ययन...
क्या होता हे पितृ दोष..?? इसके कारण,प्रभाव एवं दुष्परिणाम..???...रामेन्द्र सिंह भदोरिया , जयपुर कुन्डली का नवां घर धर्म का घर कहा जाता है,यह पिता का घर भी होता है,अगर किसी प्रकार से नवां घर खराब ग्रहों से ग्रसित होता है...
रखें थोड़ी सी वास्तु सम्मत जानकारी--                          रहेगी हमेशा सुख और कीर्ति तुम्हारी !!!!                       ***** ध्यान दीजिये----       --...
स्वप्न का मानव-जीवन से सम्बन्ध---- प्रायः हम सभी लोग प्रगाढ निद्रा में अथवा अर्ध सुषुप्तावस्था में कुछ चित्रात्मक अनुभूति-सी प्राप्त करते हैं; जिसका कुछ अंश तो जाग्रत अवस्थाम ें आते ही विस्मृत हो जाता है और कभी-कभी सम्पूर्ण चित्रात्मक अनुभूति...
वास्तु और स्टोर रूम ( Vastu Shastra and  Store Room )---पुराने जमाने में भवन में पूरे साल के लिए अनाज संग्रह किया जाता था अथवा जरूरत का सामान हिफाजत से रखा जाता था। उसके लिए अलग कक्ष होता था। किन्तु...
Application of Vastu in Agriculture--- According Vastu Shastra agriculture is depended on the five basic elements of nature.If we follow use of Vastu Shastra in choosing agricultural land, for building a farm house or while sowing the seeds it leads...

प्रख्यात लेख

मेरी पसंदीदा रचनायें

error: Content is protected !!